Home Others भाषा की परिभाषा –भाषा मानव जीवन के भाव एवं विचारधारा को व्यक्त...

भाषा की परिभाषा –भाषा मानव जीवन के भाव एवं विचारधारा को व्यक्त करने का एक माध्यम है । भाषा उसे कहते हैं जो बोली और सुनी जाती है । संस्कृत के ‘ भाष ‘ धातु से भाषा शब्द आया है । जिसका अर्थ है -‌ ‘ कहना ‘ अथवा ‘ बोलना ‘ । अर्थात भाषा वह है जिसे बोला जाये ।

198
0

परिभाषाएँ —
प्लेटो के अनुसार
” विचार और भाषा में थोड़ा ही अन्तर है । विचार आत्मा की मूक या अध्वन्यात्मक बातचीत है, पर वही जब ध्वन्यात्मक होकर होठों पर प्रकट होती है तो उसे भाषा की संज्ञा देते हैं। “
स्वीट के अनुसार
” ध्वन्यात्मक शब्दों द्वारा विचारों को प्रकट करना ही भाषा है ” ।

सपीर के अनुसार
” भाषा पूरी तरह मानवीय क्रिया है और वह वाग् – तंत्र से उत्पन्न प्रतीकों द्वारा विचारों, भावनाओं तथा इच्छाओं के संचार ( विनिमय ) का असहजवृत्तिक तरीका है । “
अन्य परिभाषा
” A Language is a system of arbitrary vocal symbol by means of which a society , group cooperates .”

अर्थात
” भाषा मनुष्य के उच्चारण- अवयवों द्वारा उच्चरित यादृच्छिक ध्वनिप्रतीकों की व्यवस्था है जिसके द्वारा एक समाज के लोग परस्पर सहयोग कर पाते हैं ।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here